ads banner
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
समाचार3 कारण जिसकी वजह से Bengal Warriors जीत सकता है PKL 2023

3 कारण जिसकी वजह से Bengal Warriors जीत सकता है PKL 2023

3 कारण जिसकी वजह से Bengal Warriors जीत सकता है PKL 2023

PKL 2023: बंगाल वॉरियर्स (Bengal Warriors) ने प्रो कबड्डी लीग (Pro Kabaddi League) का सातवां संस्करण जीता था। हालांकि पीकेएल 7 जीतने के बाद वॉरियर्स काफी असंगत रहे हैं। वे पिछले सीजन में 12-टीम अंक तालिका में 11वें स्थान पर रहे और 22 मैचों में केवल उन्होंने आठ जीत दर्ज की।

इससे पहले कोलकाता स्थित फ्रेंचाइजी ने 22 मैचों में नौ जीत के साथ अंतिम स्टैंडिंग में नौवां स्थान हासिल किया था। टीम की गिरती फॉर्म को देखते हुए मैनेजमेंट ने इस बार टीम में कुछ बदलाव करने का फैसला किया।

उन्होंने पिछले दो सीजन से केवल शीर्ष प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को बरकरार रखा और उन खिलाड़ियों को छोड़ दिया जो उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर सके। वॉरियर्स ने पीकेएल 10 के लिए एक शानदार टीम बनाई है और यहां वह तीन कारण बताए गए हैं। जिसकी वजह से ये टीम 2023/24 सीजन में एक बार ट्रॉफी फिर से हासिल कर सकती है।

ये भी पढ़ें- PKL 10 को दर्शको तक फ्री पहुंचाना चाहता है Disney+ Hotstar

PKL 2023: 3 कारण जिसकी वजह से बंगाल वॉरियर्स जीत सकता है पीकेएल सीजन 10

#1 बंगाल वॉरियर्स के पास मनिंदर सिंह के रूप में गेम-चेंजर है
जब बंगाल वॉरियर्स ने पीकेएल 10 की नीलामी से पहले मनिंदर सिंह को रिलीज करने की घोषणा की तो कई कबड्डी प्रशंसक आश्चर्यचकित रह गए। सिंह पांचवें संस्करण से ही टीम की रीढ़ थे। उन्होंने अपनी फ्रेंचाइजी के लिए लगातार रेड प्वाइंट बनाए हैं, यही वजह है कि उन्हें रिलीज होते देखना हैरान करने वाला था।

सौभाग्य से बंगाल वॉरियर्स प्रो कबड्डी 2023 नीलामी में उन्हें फिर से साइन करने में कामयाब रहे। उन्होंने मनिंदर सिंह को ₹2.12 करोड़ की भारी कीमत पर अपने दल में वापस लाने के लिए एफबीएम कार्ड का इस्तेमाल किया।

जहां तक ​​प्रो कबड्डी लीग में मनिंदर सिंह की संख्या का सवाल है, स्टार रेडर ने 122 मैचों में 1,244 अंक अर्जित किए हैं। इनमें से 1,231 रेड से आए हैं। उन्होंने अपने करियर में 63 सुपर 10 बनाए हैं, जबकि 42 सुपर रेड को भी अंजाम दिया है।

उनके जैसे चैंपियन रेडर के टीम में होने से बंगाल वॉरियर्स को काफी फायदा होगा। उनके पास पीकेएल की कप्तानी का भी काफी अनुभव है। अगर वॉरियर्स उन्हें 10वें सीजन के लिए अपना कप्तान नियुक्त करता है तो इसमें कोई आश्चर्य नहीं होना चाहिए।

#2 बंगाल वॉरियर्स के पास अब कुछ प्रतिभाशाली सपोर्टिंग रेडर हैं
मनिंदर सिंह टीम के लिए अधिकांश अंक हासिल कर सकते हैं, लेकिन अगर वह बाहर हो जाते हैं तो उन्हें तुरंत पुनर्जीवित करने के लिए किसी की जरूरत होगी। बंगाल टीम के मालिकों ने कुछ प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को शामिल किया है, जो सहायक रेडर की भूमिका निभा सकते हैं।

वॉरियर्स के पास टीम में हरफनमौला खिलाड़ी नितिन रावल हैं, जिन्होंने 142 रेड अंक अर्जित किए हैं। उनके पास श्रीकांत जाधव भी हैं, जिन्होंने पिछले सीजन में बंगाल के लिए 129 अंक बनाए थे। इसके अलावा टीम में विश्वास एस, सुयोग गायकर, आर गुहान और प्रशांत कुमार जैसे कुछ आगामी सितारे भी शामिल हैं।

#3 डिफेंस में अनुभव
बंगाल वॉरियर्स ने इस साल गिरीश मारुति एर्नाक को जाने दिया, लेकिन उन्होंने वैभव गार्जे और शुभम शिंदे की प्रतिभा पर भरोसा दिखाया है। राइट कवर डिफेंडर गार्जे ने पिछले सीजन में 31 अंक बनाए, जबकि शिंदे ने राइट कॉर्नर पोजीशन में 44 अंक अर्जित किए।

ऑलराउंडर नितिन रावल लेफ्ट कॉर्नर पोजीशन ले सकते हैं। वह भारतीय कबड्डी टीम के लिए उस पद पर खेलते हैं। वॉरियर्स के पास प्रतिभाशाली लेफ्ट कवर श्रेयस उमरबंद भी है। कुल मिलाकर, डिफेंस काफी अनुभवी है और प्रतियोगिता में किसी भी रेडिंग यूनिट को हरा सकता है।

 

  • कबड्डी टूर्नामेंट सीरीज
  • PKL
  • PKL 2023

प्रो कबड्डी न्यूज़ इन हिंदी

कबड्डी हिंदी लेख