ads banner
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
अंतरराष्ट्रीयभारतीय रेलवे ने जीता खिताब, महाराष्ट्र हारा 69वीं नेशनल कबड्डी चैंपियनशिप

भारतीय रेलवे ने जीता खिताब, महाराष्ट्र हारा 69वीं नेशनल कबड्डी चैंपियनशिप

भारतीय रेलवे ने जीता खिताब, महाराष्ट्र हारा 69वीं नेशनल कबड्डी चैंपियनशिप

69वीं सीनियर नेशनल कबड्डी चैंपियनशिप का समापन बेहद रोचक ढंग से हुआ.

जिसमें कई रोमांचिक मुकाबले देखने को मिले.

दिन की शुरूआत में भारतीय रेलवे ने अपना दबदबा कायम रखते हुए

तमिलनाडु कि टीम को 44-26 से हराते हुए सेमीफाइनल में जगह बनाई थी.

69वीं सीनियर नेशनल कबड्डी चैंपियनशिप

वहीं दूसरी ओर गोवा ने भी उत्तरप्रदेश को मामूली अंतर से हराया. गोवा ने उत्तरप्रदेश को 38-41 के मामूली अंतर से हराया था.

अगले मैच में हरियाणा ने हैवीवेट सर्विसेज को 28-48 से मात दी और उसके बाद महाराष्ट्र ने चंडीगढ़ को 21-39 से हराया.

पहले सेमीफाइनल की बात करें तो हरियाणा ने

महाराष्ट्र पर तेजी से बढ़त हासिल करने के लिए मीतू और मोहित गोयत की रेडिंग जोड़ी पर जमकर हमला बोला.

हालांकि बाद में महाराष्ट्र ने वापसी करते हुए 27-33 के अंतर से यह मैच अपने नाम किया था.

उन्होंने आकाश शिंदे के सुपर 10और किरण लक्ष्मण के हाई 5 से अपनी बढ़त बनाए रखी.

भारतीय रेलवे बनी विजय

वहीं दूसरे सेमीफाइनल मुकाबले की बात करें तो

भारतीय रेलवे ने शुरुआती बढ़त हासिल की थी और हाफटाइम तक 36-13 से बढ़त बना ली थी.

जबकि श्रीकांत जाधव 7 अंकों के साथ गोवा के शीर्ष स्कोरर रहे थे

लेकिन फिर भी वह वापसी नहीं कर सकें क्योंकि पवन सेहरावत ने 14 अंकों के साथ अच्छी बढ़त बनाए रखी.

भारतीय रेलवे 43-20 से जीत के बाद एक ताज और पाने की दौड़ में एक कदम दूर था.

वहीं महाराष्ट्र से उनका न्तिम मुकाबला होना था जिसमें रेलवे की टीम भारी पड़ती नजर आ रही थी.

भारतीय रेलवे ने महाराष्ट्र को 38-21 के दमदार स्कोर से हराया.

बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए फाइनल में रेलवे की जीत पक्की हुई.

पवन सेहरावत ने 9 रेड अंक के साथ अपनी और टीम की पकड़ मजबूत बनाए रखी.

उन्होंने कुल 13 टैकल पॉइंट्स के साथ महाराष्ट्र के आक्रमण को विफल कर दिया और

टीम को एक और फ्विजय दिलाई.

बता दें भारतीय रेलवे कबड्डी चैंपियनशिप मेपेहले तीन बार भी विजेता बन चुका है.

तो भारतीय रेलवे की यह चौथी जीत रही.

Yash Sharma
Yash Sharmahttps://prokabaddilivescore.com/
मुझे 12 साल की उम्र से ही इस खेल में दिलचस्पी है। मैं प्रो कबड्डी का फैन हूं।

प्रो कबड्डी न्यूज़ इन हिंदी

कबड्डी हिंदी लेख