ads banner
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
समाचारबिहार शरीफ में आयोजित जिला स्तरीय तरंग प्रतियोगिता, सिलाव और गिरियक विजेता

बिहार शरीफ में आयोजित जिला स्तरीय तरंग प्रतियोगिता, सिलाव और गिरियक विजेता

बिहार शरीफ में आयोजित जिला स्तरीय तरंग प्रतियोगिता, सिलाव और गिरियक विजेता

बिहार राज्य के बिहार शरीफ में चल रही जिला स्तरीय तरंग प्रतियोगिता में खिलाड़ी बढ़-चढ़कर भाग ले रहे हैं. प्रतिभागियों का जोश इस दौरान देखते ही बनता है. इस दौरान आस-पास के क्षेत्र से कई टीमें हिस्सा लेने आई थी. जिसमें से बालिका वर्ग में सिलाव और बालक वर्ग में गिरियक टीम ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए टूर्नामेंट में बाजी मारी है.

बिहार शरीफ में सिलाव और गिरियक टीम बनी चैंपियन

दो दिवसीय इस प्रतियोगिता में फाइनल मुकाबला खेला गया था. जिसमें टीमों के बीच काफी रोमांचक मुकाबले देखने को मिले थे. टूर्नामेंट का आगाज लीग मुकाबलों की तर्ज पर ही हुआ था. जिसमें से बेस्ट दो टीमों के बीच फाइनल मुकाबला खेला गया था. बिहार शरीफ के सोगरा स्कूल और दीपनगर स्टेडियम में इन मुकाबलों का आयोजन किया गया था.

बता दें कबड्डी मुकाबले में बालिका वर्ग का फाइनल मुकाबला सिलाव और सरमेरा के बीच खेला गया था. सिलाव और सरमेरा के बीच यह मुकाबला एकतरफा बन गया था. जिसमें सिलाव की टीम ने आसानी से जीत हासिल कर ली थी. फाइनल परिणाम कि बात करें तो सिलाव ने सरमेरा को 49-22 के मुकाबले से हरा दिया था. इस मुकाबले में बालिकाओं ने शानदार खेल का प्रदर्शन किया था. और सिलाव टीम में खिलाड़ियों तालमेल दिखाई दिया. वहीं सरमेरा टीम को पॉइंट्स हासिल करने में काफी मुश्किल हो रही थी.

वहीं बालक वर्ग कि बात करें तो गिरियक और बिहारशरीफ के बीच फाइनल मुकाबला खेला गया था. जिसमें कांटे का मुकाबला देखा गया था. इस मुकाबले में गिरियक टीम ने जीत हासिल की थी. जीत का अंतर मात्र पांच पॉइंट्स था. गिरियक ने इस मुकाबले म्बिहार शरीफ को 35-30 से मात दी थी. आखिरी समय तक मुकाबले का फैसला नहीं हुआ था.

इस प्रतियोगिता में अन्य खेलों का प्रदर्शन हो रहा है जिसमें खिलाड़ी बढ़-चढ़कर भाग ले रहे हैं. यह टूर्नामेंट 6 दिस्मबर तक चलेगा. खेलों के संचालन में सुबोध कुमार, भावेश कुमार, इम्तियाज हैदर, श्याम किशोर, आलोक रोहित आदि ने योगदान दिया था.

 

Yash Sharma
Yash Sharmahttps://prokabaddilivescore.com/
मुझे 12 साल की उम्र से ही इस खेल में दिलचस्पी है। मैं प्रो कबड्डी का फैन हूं।

प्रो कबड्डी न्यूज़ इन हिंदी

कबड्डी हिंदी लेख