ads banner
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
अंतरराष्ट्रीयबोकारो के कबड्डी खिलाड़ियों का प्रदर्शन चिंताजनक, नहीं मिल रहे सिखाने के...

बोकारो के कबड्डी खिलाड़ियों का प्रदर्शन चिंताजनक, नहीं मिल रहे सिखाने के लिए कोच 

बोकारो के कबड्डी खिलाड़ियों का प्रदर्शन चिंताजनक, नहीं मिल रहे सिखाने के लिए कोच 

झारखण्ड राज्य में बोकारो के कबड्डी खिलाड़ियों का जलवा रहा है. राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर हर प्रतियोगिता में शानदार प्रदर्शन करते हैं. लेकिन हाल ही के दिनों में इन खिलाड़ियों के प्रदर्शन में कमी देखने को मिली है. ऐसे में ना कोच की सही दिशा मिल पा रही है और ना ही खिलाड़ियों को उचित प्लेटफॉर्म मिल पा रहा है. ऐसे में बोकारो में आयोजित होने वाली राष्ट्रीय प्रतियोगिता में बोकारों के एक भी खिलाड़ी ने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया था. जिस कारण बोकारो टीम के प्रदर्शन और उसकी व्यवस्था पर सवाल उठने शुरू हो चुके हैं. इंटरनेशनल स्तर के कबड्डी खिलाड़ी देने वाले बोकारो के खिलाड़ियों का राष्ट्रीय सब जूनियर प्रतियोगिता में औसत प्रदर्शन से इनके फैन्स में काफी निराशा है.

बोकारो के कबड्डी खिलाड़ियों का नहीं कोई ख़ास प्रदर्शन

बालक और बालिका वर्ग में आयोजित प्रतियोगिता में राज्य की टीम ने हिस्सा लिया था. जिसमें कई खिलाड़ी बोकारो के शामिल थे. दोनों ही वर्ग में राज्य की टीम ने सेमीफाइनल में जगह नहीं बनाई थी. वीं 32वें सब जूनियर नेशनल कबड्डी प्रतियोगिता के दौरान बालक वर्ग में राज्य की टीम नॉक आउट राउंड के लुए 16 स्थान के अंदर भी जगह नहीं बना पाई थी. यहीं हाल बालिका वर्ग का भी रहा था. कबड्डी एसोसिएशन ऑफ झारखण्ड के महासचिव विपिन कुमार सिंह ने बताया कि खिलाड़ियों का बेहतर प्रदर्शन रहा है. आने वाले दिनों में खिलाड़ी और भी अच्छा प्रदर्शन करेंगे.

बोकारो जिला कबड्डी संघ और कबड्डी एसोसिएशन ऑफ झारखण्ड की ओर से सब जूनियर नेशनल कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था. जिसमें देश के एक हजार से ज्यादा खिलाड़ी शामिल हुए थे. सभी खिलाड़ी देश के विभिन्न राज्यों से बोकारों में पहुंचे थे. प्रतियोगिता में जहां बिहार और हरियाणा की टीम ने जीत पाई थी वहीं झारखण्ड की टीम का प्रदर्शन लाचार रहा था.

बोकारों में दो खेल संघों की ओर से कबड्डी का आयोजन किया जाता है. जिसमें कबड्डी एसोसिएशन ऑफ झारखण्ड के महासचिव विपिन कुमार सिंह है. वहीं न्यू झारखण्ड राज्य कबड्डी संघ के सचिव मनोज कुमार है. विगत कई वर्षों से दोनों ही संघ अपने-अपने स्तर से बच्चों को प्रशिक्षण देने का काम कर रहे हैं.

 

Yash Sharma
Yash Sharmahttps://prokabaddilivescore.com/
मुझे 12 साल की उम्र से ही इस खेल में दिलचस्पी है। मैं प्रो कबड्डी का फैन हूं।

प्रो कबड्डी न्यूज़ इन हिंदी

कबड्डी हिंदी लेख