ads banner
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
एथलीटPKL 2023 में Jasvir Singh किस टीम को कोचिंग दे रहे हैं?

PKL 2023 में Jasvir Singh किस टीम को कोचिंग दे रहे हैं?

PKL 2023 में Jasvir Singh किस टीम को कोचिंग दे रहे हैं?

Kabaddi Coach Jasvir Singh in PKL 2023: जसवीर सिंह मौजूदा प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) सीजन 10 में यूपी योद्धास के कोच के रूप में अपना कार्यकाल जारी रखे हुए हैं। वह 2018 के छठे सीजन से ही योद्धाओं को कोचिंग दे रहे हैं।

कोच के रूप में अपने पहले सीज़न में, जसवीर ने यूपी योद्धाओं को प्लेऑफ़ तक पहुंचाया। उनके मार्गदर्शन में, योद्धा प्रो कबड्डी लीग में सबसे लगातार टीमों में से एक बनकर उभरी है। छठे सीज़न के बाद से, योद्धाओं ने हर संस्करण में प्लेऑफ़ में जगह बनाई है।

एक कोच (Kabaddi Coach Jasvir Singh in PKL 2023) के रूप में उनकी क्षमताएं हर सीज़न में टीम के अच्छे प्रदर्शन से स्पष्ट होती हैं।

जसवीर सिंह अब मायावी पीकेएल ट्रॉफी पर अपना हाथ रखने के लिए उत्सुक होंगे, जिसे योद्धा वर्षों से मजबूत दावेदार होने के बावजूद जीतने में असफल रहे हैं।

यूपी योद्धाओं की पीकेएल 10 अभियान में अच्छी शुरुआत नहीं रही है। वे अब तक अपने छह मैचों में से केवल दो जीतने में सफल रहे हैं, तीन हार और एक बराबरी का मुकाबला का सामना करना पड़ा है।

उनके कोच के रूप में उनके ट्रैक रिकॉर्ड को देखते हुए, जसवीर अपनी टीम का उत्थान करने और उन्हें मौजूदा सीज़न में वापसी करने में मदद करने के लिए उत्सुक होंगे।

Jasvir Singh के कोचिंग करियर पर एक नजर

Kabaddi Coach Jasvir Singh in PKL 2023: उत्तर प्रदेश के रहने वाले जसवीर कबड्डी बिरादरी में एक प्रसिद्ध व्यक्ति हैं। 1995 में खेल के प्रति अपने जुनून को आगे बढ़ाने के लिए वह सेना की टीम में शामिल हो गए।

तीन साल बाद, उन्होंने 1998 में सर्विसेज टीम में जगह बनाई। वह सर्विसेज के एक प्रमुख सदस्य थे, जिन्होंने उनकी सफलता में भारी योगदान दिया। 1998 से 2007 तक वह उनके मुख्य आधारों में से एक रहे।

2009 में, उन्होंने एक शानदार खेल करियर के बाद एक कबड्डी कोच के रूप में अपनी यात्रा शुरू की। उन्होंने नासिक टीम की कोचिंग की जिम्मेदारी संभाली, जहां उन्होंने पीकेएल में अन्य प्रसिद्ध चेहरों के अलावा मोनू गोयत, महेंद्र, नितेश और जयदीप जैसी कई प्रतिभाओं को निखारा।

2018 में सेना से रिटायर होने के बाद, उन्होंने यूपी योद्धाओं के कोच के रूप में अपनी भूमिका शुरू की। उन्होंने न केवल हर सीज़न में टीम को लगातार प्लेऑफ़ तक पहुंचाया है, बल्कि सुरेंद्र गिल, सुमित सांगवान, आशु नागर और रोहित तोमर जैसे कई खिलाड़ियों को विकसित करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

एक कबड्डी कोच के रूप में उनके जबरदस्त योगदान के लिए उन्हें कई पुरस्कार मिले हैं। इसमें सेनाध्यक्ष द्वारा सम्मानित किया जाना भी शामिल है।

Also Read: PKL 2022 में किस रेडर के सबसे अधिक Raid Points थे?

  • कबड्डी टूर्नामेंट सीरीज
  • PKL
Aditya Jaiswal
Aditya Jaiswalhttps://prokabaddilivescore.com/
आपका प्रो कबड्डी सूचना स्रोत। नवीनतम कबड्डी समाचार संवाददाताओं में से एक जो खेल पर कहानियां और रिपोर्ट लिखता है।

प्रो कबड्डी न्यूज़ इन हिंदी

कबड्डी हिंदी लेख