ads banner
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
घरेलू33rd Sub Junior National Kabaddi का विनर कौन बना? जानिए

33rd Sub Junior National Kabaddi का विनर कौन बना? जानिए

33rd Sub Junior National Kabaddi का विनर कौन बना? जानिए

33rd Sub Junior National Kabaddi Winner: एमेच्योर कबड्डी फेडरेशन ऑफ इंडिया (AKFI) और कबड्डी एसोसिएशन ऑफ बिहार ने 33वीं सब जूनियर बॉयज नेशनल कबड्डी चैंपियनशिप का आयोजन किया था।

यह टूर्नामेंट बिहार राज्य के पूर्वी चंपारण शहर के मोतिहारी में हुआ। यह प्रतिष्ठित प्रतियोगिता आज 16 से 19 मार्च 2024 तक आयोजित की गई थी।

ये राष्ट्रीय प्रतियोगिताएं प्रतिभा खोज में अहम भूमिका निभाती हैं, जो भारतीय कबड्डी टीम के चयन के समय और भी महत्वपूर्ण हो जाती है।

बिहार बना 33rd Sub Junior National Kabaddi का Winner

19 मार्च को लड़कों की कैटिगरी में हरियाणा ने बिहार को रौंदकर खिताब अपने नाम किया। परवीन तंवर और मनोज दलाल की कोचिंग में टीम ने खिताब जीता।

हरियाणा ने शुरू से ही खेल पर अपना दबदबा बनाए रखा, लगातार SAI के क्षेत्र में रेड करते हुए महत्वपूर्ण अंक अर्जित किए। उनके रेडर्स ने शानदार चपलता और ताकत दिखाई, SAI के डिफेंडर्स को आसानी से चकमा दिया। हरियाणा का डिफेंस भी मजबूत रहा, जिसने SAI के रेडर्स को प्रभावी ढंग से टैकल किया और उन्हें अंक हासिल करने से रोका।

अंतिम स्कोरलाइन ने हरियाणा के प्रभुत्व को दर्शाया, जिसमें SAI पर 45-35 की शानदार जीत दर्ज की गई।

समापन समारोह में पवन सहरावत की रही उपस्थिति

टूर्नामेंट के उद्घाटन समारोह में अर्जुन पुरस्कार विजेता और प्रो कबड्डी लीग के खिलाड़ी दीपक हुड्डा की उपस्थिति रही।

उनकी उपस्थिति युवा प्रतिभागियों के लिए प्रेरणा का एक प्रमुख स्रोत रही, जिसमें कबड्डी की संभावनाओं को दर्शाया गया।

इसी तरह, समापन समारोह में एक अन्य अर्जुन पुरस्कार विजेता और पीकेएल के स्टार खिलाड़ी पवन सहरावत की उपस्थिति देखी गई। इन प्रसिद्ध कबड्डी हस्तियों ने न केवल इस आयोजन में स्टार पावर जोड़ा, बल्कि युवा एथलीटों को खेल में उत्कृष्टता हासिल करने के लिए प्रेरित भी किया।

33वीं सब-जूनियर राष्ट्रीय कबड्डी चैंपियनशिप सफलतापूर्वक संपन्न हुई, जिसमें हरियाणा चैंपियन बना। हालांकि, असली सफलता भारत भर में युवा प्रतिभाओं को प्रदान किए गए मंच में निहित है।

इस टूर्नामेंट ने विभिन्न राज्यों में कबड्डी की बढ़ती ताकत और कबड्डी खिलाड़ियों की भावी पीढ़ियों की अपार क्षमता को प्रदर्शित किया।

निरंतर समर्पण और समर्थन के साथ, कबड्डी आने वाले वर्षों में और भी अधिक ऊंचाइयों के लिए तैयार है।

Also Read: Pro Kabaddi के 5 ऐसे मौके जब खिलाड़ी हुए Injured

Aditya Jaiswal
Aditya Jaiswalhttps://prokabaddilivescore.com/
आपका प्रो कबड्डी सूचना स्रोत। नवीनतम कबड्डी समाचार संवाददाताओं में से एक जो खेल पर कहानियां और रिपोर्ट लिखता है।

प्रो कबड्डी न्यूज़ इन हिंदी

कबड्डी हिंदी लेख