ads banner
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
खिलाड़ियोंगुरु काशी यूनिवर्सिटी ने जीता टूर्नामेंट, चंडीगढ़ उपविजेता

गुरु काशी यूनिवर्सिटी ने जीता टूर्नामेंट, चंडीगढ़ उपविजेता

गुरु काशी यूनिवर्सिटी ने जीता टूर्नामेंट, चंडीगढ़ उपविजेता

Image Source : Google

उत्तरप्रदेश में खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स का तीसरा सीजन आयोजित हुआ था. जिसमें कबड्डी खिलाड़ियों ने भी भाग लिया था. वहीं इस कबड्डी खेल के महिला वर्ग और पुरुष वर्ग के खेल भी आयोजित हुए थे. इसमें पुरुष वर्ग के मुकाबले का फाइनल हुआ था. जिसमें गुरु काशी यूनिवर्सिटी और चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के बीच मुकाबला खेला गया था. इस मुकाबले में गुरु काशी यूनिवर्सिटी ने ख़िताब अपने नाम किया था.

गुरु काशी यूनिवर्सिटी के नाम खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स

मुकाबला काफी रोमांचक देखे को मिला था. इस मुकाबले में गुरु काशी यूनिवर्सिटी ने शुरू से ही मुकाबले में अपना दम रखा था. शुरू से वह विरोधी टीम पर हावी नजर आई थी. वहीं 44-36 से अंतर से उन्होंने इस फाइनल मैच को अपने नाम किया था. विजेता खिलाड़ियों को अपर जिलाधिकारी वित्त और राजस्व वन्दिता श्रीवास्तव और एसडीएम अंकित कुमार ने सम्मानित किया था.

इसका आयोजन उत्तरप्रदेश के गौतमबुद्ध नगर जिले में हो रहा था. कबड्डी खेल के साथ ही इस गेम्स का उद्घाटन हुआ था. इसमें भारतभर के कई विश्वविद्यालय शामिल हुए थे. वहीं इसमें करीब 15 टीम इस स्पर्धा में भागीदारी ले रही थी. ये टूर्नामेंट गौतमबुद्ध नगर जिले के शहीद विजय सिंह पथिक स्टेडियम में आयोजित किया जा रहा था.

वहीं बात करें दूसरे सीजन कि तो इसका शानदार कार्यक्रम आयोजित हुआ था. जैन यूनिवर्सिटी बैंगलोर ने स्कूल ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी कैम्पस और कनकपुरा रोड पर स्पोर्ट्स स्कूल कैम्पस में गेम्स की मेजबानी की थी. बात करें पुरुष खेलों की तो फाइनल में कोटा विश्वविद्यालय बनाम चौधरी बंसीलाल विश्वविद्यालय था. कोटा के लड़कों ने खुद को टूर्नामेंट में सबसे मजबूत साबित किया था लेकिन एक हार के बाद रजत पदक के साथ घर वापस जाना पड़ा.

इससे पहले सेमीफाइनल मुकाबलों की बात करें तो कोटा के खिलाड़ियों ने सीवी रमन विश्वविद्यालय के लड़कों पर खुदको हावी रखा और सेमीफाइनल का शुरुआती गेम जीता था. अपना दबदबा कायम रखते हुए कोटा विश्वविद्यालय की टीम ने फाइनल में प्रवेश किया था. वहीं दूसरे सेमीफाइनल मुकाबले में चौधरी बंसीलाल विश्वविद्यालय की टीम हावी नजर आई.

 

Yash Sharma
Yash Sharmahttps://prokabaddilivescore.com/
मुझे 12 साल की उम्र से ही इस खेल में दिलचस्पी है। मैं प्रो कबड्डी का फैन हूं।

प्रो कबड्डी न्यूज़ इन हिंदी

कबड्डी हिंदी लेख