ads banner
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
खिलाड़ियोंमांढ़ी हरिया में कबड्डी प्रतियोगिता का हुआ फाइनल, लीलाराम एकेडमी बनी विजेता

मांढ़ी हरिया में कबड्डी प्रतियोगिता का हुआ फाइनल, लीलाराम एकेडमी बनी विजेता

मांढ़ी हरिया में कबड्डी प्रतियोगिता का हुआ फाइनल, लीलाराम एकेडमी बनी विजेता

हरियाणा के मांढ़ी हरिया में तीन दिन के लिए कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था. जिसका समापन हो चुका है. वहीं फाइनल मुकाबला कल खेला गया था जिसमें आदमपुर की लीलाराम एकेडमी टीम ने अम्बाला कैंट की टीम को हराते हुए खिताब जीता था. इस टूर्नामेंट के समापन पर शानदार प्रदर्शन करने वाली टीम को आयोजनकर्ताओं ने सम्मानित भी किया था.

मांढ़ी हरिया में कबड्डी प्रतियोगिता का समापन

इस टूर्नामेंट के समापन समारोह में मनोज कुमार मुख्य अतिथि बनकर आए थे. इस दौरान उन्होंने खिलाड़ियों समेत सभी दर्शकों को सम्बोधित किया था. इस दौरान उन्होंने कहा कि खेलों से आपसी भाईचारे की भावना का विकास होता है. खेलकूद मानव जीवन का एक अहम हिस्सा भी है. उन्होंने आगे कहा कि मानव जीवन को स्वस्थ रहने के लिए खेल से नाता जोड़ना जरूरी है. बिना खेलकूद और योग के मानव शरीर कभी स्वस्थ नहीं रह सकता है. खेल हम सभी के जीवन में विशेष महत्व रखते हैं.

 

मुख्य अतिथि की भूमिका निभा रहे मनोज कुमार ने आगे कहा कि, ‘शिक्षा और खेल शारीरिक और मानसिक विकास के लिए बहुत जरूरी है. खेल के बलबूते से हम राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर विजेता बन सकते है और अपना परचम लहरा सकते है.’ उन्होंने इसके बाद खिलाड़ियों से मुलाकात की थी और तभी टूर्नामेंट की शुरुआत हुई थी.

इस दौरान पहला मैच मिताथल और लीलाराम एकेडमी आदमपुर के बीच खेला गया था. इस मैच में मिताथल की टीम विजेता बनी थी. वहीं एक और मैच इस दौरान खेला गया था जिसमें वाइब्रेंट स्कूल और गांव चमारिया रोहतक आमने-सामने थे. इस मुकाबले में वाइब्रेंट की टीम विजेता बनी थी. अर्जुन सिंह स्टेडियम जींद की टीम और लीलाराम एकेडमी आदमपुर के बीच हुए मैच में लीलाराम एकेडमी आदमपुर की टीम विजेता बनी थी.

 

इसके साथ ही फाइनल मैच अम्बाला कैंट की टीम और लीलाराम एकेडमी आदमपुर के बीच हुआ था. इसमें अम्बाला कैंट को हराते हुए लीलाराम एकेडमी आदमपुर की टीम विजेता बनी थी. इस मौके पर मुख्य अध्यापक कर्ण सिंह, सरपंच अनिल, अजय, जगजीत कुमार, सज्जन सिंह और दीपक मौजूद रहे थे. सभी ने आयोजनकर्ताओं के काम को खूब सराहा था. साथ ही खिलाड़ियों का भी खूब उत्साहवर्धन किया था.

Yash Sharma
Yash Sharmahttps://prokabaddilivescore.com/
मुझे 12 साल की उम्र से ही इस खेल में दिलचस्पी है। मैं प्रो कबड्डी का फैन हूं।

प्रो कबड्डी न्यूज़ इन हिंदी

कबड्डी हिंदी लेख