ads banner
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
अंतरराष्ट्रीयजानिए प्रो कबड्डी लीग के सबसे महंगे खिलाड़ी पवन सेहरावत की कुछ...

जानिए प्रो कबड्डी लीग के सबसे महंगे खिलाड़ी पवन सेहरावत की कुछ अनकही दास्तां

जानिए प्रो कबड्डी लीग के सबसे महंगे खिलाड़ी पवन सेहरावत की कुछ अनकही दास्तां

प्रो कबड्डी लीग के सबसे महंगे खिलाड़ी पवन सेहरावत को कौन नहीं जानता है.

कबड्डी के सितारें ने विश्व पटल पर भारतीय कबड्डी के सितारे को बुलंद किया है.

इस साल सीजन के सबसे महंगे बिकने वाले खिलाड़ी में शामिल हुए पवन के बारे में हर कोई जानना चाहता है.

लीग के इतिहास में पवन को 2 करोड़ 26 लाख में खरीद कर तमिल टीम ने सारे रिकॉर्ड ब्रेक कर दिए है.

पवन ऐसे खिलाड़ी है जो जिस टीमके साथ रहते उस टीम के लिए वह काफी सफल रहते है.

और पूरी टीम का भार अपने कन्धों पर लेकर चलते है.

पवन सेहरावत का चला है जादू

प्रो कबड्डी लीग की शुरुआत 2014 में हुई थी तो तब से लेकर अब तक सैकड़ों खिलाड़ी इसका हिस्सा बन चुके हैं.

हालांकि अब भी केवल पांच ही खिलाड़ी ऐसे है जिहोने लीग में हजार पॉइंट्स हासिल करने का कारनामा किया है. पवन सेहरावत भी उन खिलाड़ियों में से एक हैं. पवन ने यह उपलब्धि पिछले सीजन में हासिल की थी जिसमें उन्होंने 104 मैच खेलते हुए 1036 पॉइंट्स हासिल किए थे.

वहीं बात करें पवन के दूसरे रिकॉर्ड कि तो उन्होंने रेलवे की

टीम को लगातार चौथी बार सीनियर नेशनल कबड्डी चैंपियनशिप जिताया था.

पिछले तीन सीजन में लगातार उनकी ही कप्तानी ने टीम ने यह खिताब अपने नाम किया था.

कईं खिलाड़ियों के लिए तो एक बार ही नेशनल चैंपियनशिप जीतना बड़ी बात होती है

लेकिन पवन ने तो तीन बार सिर्फ अपनी कप्तानी में ऐसा कारनामा किया है जिससे उनकी खूब वाह वाही हुई थी.

उतार चढ़ाव हर प्लेयर और इंसान की जिंदगी में आता है वैसा कुछ पवन की जिंदगी में भी आया था.

प्रो कबड्डी लीग के शुरुआत में वह अच्छा प्रदर्शन करने में निष्फल रहे थे.

उतार चढ़ाव से भरा रहा करियर

इसी के चलते उन्होंने कबड्डी छोड़ने तक का मन बना लिया था.

लेकिन फिर कोच रन्धिओर सिंह की सलाह मानकर उन्होंने और कढ़ी मेहनत की और कबड्डी में

अपना यह मुकाम हासिल किया था.

Yash Sharma
Yash Sharmahttps://prokabaddilivescore.com/
मुझे 12 साल की उम्र से ही इस खेल में दिलचस्पी है। मैं प्रो कबड्डी का फैन हूं।

प्रो कबड्डी न्यूज़ इन हिंदी

कबड्डी हिंदी लेख