ads banner
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
खिलाड़ियोंकाठमांडू कबड्डी प्रतियोगिता में हिमांशु ने जीता गोल्ड, पलड़ा गांव में हुआ...

काठमांडू कबड्डी प्रतियोगिता में हिमांशु ने जीता गोल्ड, पलड़ा गांव में हुआ स्वागत

काठमांडू कबड्डी प्रतियोगिता में हिमांशु ने जीता गोल्ड, पलड़ा गांव में हुआ स्वागत

काठमांडू में आयोजित हुई अंडर-17 नेशनल कबड्डी टूर्नामेंट में गांव पलड़ा के हिमांशु ने गोल मेडल जीतकर नाम रोशन किया है. दरअसल हरियाणा के झज्जर के पास गांव पलड़ा के रहने वाले हिमांशु ने नेपाल के काठमांडू में आयोजित हुई कबड्डी प्रतियोगिता में बहाग लिया था. जिसमें उन्होंने अपनी टीम के लिए गोल मेडल हासिल किया है. इसी के साथ जब वह अपने गांव फिर लौटे तो उनका जोरों-शोरों से स्वागत किया गया था.

पलड़ा गांव के हिमांशु का बेहतरीन प्रदर्शन

काठमांडू में हुए अंडर-17 नेशनल कबड्डी टूर्नामेंट में हिमांशु ने बेहतरीन प्रदर्शन किया था. इस प्रतियोगिता में हिमांशु ने अपने प्रदर्शन के दम पर टीम को जीत दिलाने में सफलता हासिल की थी. हिमांशु को लेकर उनके माता-पिता और पूरे गाँव को उन पर नाज है. हिमांशु जब गांव पहुंचे तो ग्राम पंचायत और मेरा गांव मेरा परिवार संस्था की ओर से उनका फूल-मालाओं से स्वागत किया गाया था. वहीं सभी ने ढोल-बाजों के साथ उनका अभिनंदन किया था.

वहीं संस्था के सदस्य डॉक्टर कर्ण सिंह ने बताया कि, ‘प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती है. इतनी कम उम्र में ही गांव का नाम रोशन करना एक बहुत बड़ी बात है. अपने लाडले के इस कीर्तिमान से अधिक अपने आपको गौरवान्वित महसूस कर रहा हैं.’

वहीं जब हिमांशु से इस बारे में बात कि तो वह अपनी ख़ुशी शब्दों में नहीं बयाँ कर पाए. उन्होंने कहा कि इस जीत का श्रेय में अपने कोच और माता-पिता को देना चाहता हूं. बता दें हिमांशु ने शुरू से ही सरिता फोगाट से कोचिंग ली थी और कबड्डी में महारत हासिल की थी. वहीं दूसरी ओर हिमांशु के पिता अशोक ने बताया कि, ‘मुझे मेरे बच्चे पर काफी नाज है जिसने मेरा ही नहीं बल्कि पूरे गांव का नाम रोशन किया है. यह सब उसकी मेहनत और कोच सरिता फोगाट के मार्गदर्शन से सम्भव हो पाया है.’

इस मौके पर हिमांशु और अशोक ने सरिता फोगाट का आभार व्यक्त किया है. इस मौके पर सभी ने सरिता फोगाट का तेरफ की और काह कि इनके मार्गदर्शन मे हमारे युवा खिलाड़ी विभिन्न प्रतियोगिता में अनेकों मेडल प्रापर्ट करते हैं.

 

Yash Sharma
Yash Sharmahttps://prokabaddilivescore.com/
मुझे 12 साल की उम्र से ही इस खेल में दिलचस्पी है। मैं प्रो कबड्डी का फैन हूं।

प्रो कबड्डी न्यूज़ इन हिंदी

कबड्डी हिंदी लेख