ads banner
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
खिलाड़ियोंखिलाड़ियों को ट्रेन के शौचालय में करना पड़ा सफर, कबड्डी एसोसिएशन की...

खिलाड़ियों को ट्रेन के शौचालय में करना पड़ा सफर, कबड्डी एसोसिएशन की लापरवाही

खिलाड़ियों को ट्रेन के शौचालय में करना पड़ा सफर, कबड्डी एसोसिएशन की लापरवाही

झारखण्ड के जमशेदपुर में सब जूनियर चैंपियनशिप का आयोजन हो रहा है. अंडर-16 कबड्डी खिलाड़ियों की बोर्डिंग स्टेशन को लेकर असमंजस के चलते ट्रेन ही छूट गई थी. इतना ही नहीं दूसरी ट्रेन लेने के लिए उन्हें यशवंतपुर रेलवे स्टेशन पर काफी देर इन्तजार करना पड़ा था. साथ ही ट्रेन में जगह नहीं मिलने पर उन्हें काफी मशक्कत के साथ यात्रा करनी पड़ी थी. इसमें कबड्डी एसोसिएशन की बड़ी लापरवाही सामने आ रही है.

कबड्डी एसोसिएशन की गलती से खिलाड़ियों को हुई दिक्कत

12 लड़कों और 12 लड़कियों के समूह को कुछ घंटे ट्रेन में जैसे तैसे सफर करना पड़ा था. कुछ को शौचालय में ही खड़े रहकर सफर करना पड़ा था. बता दें पहले वे अंगा एक्सप्रेस ट्रेन में सफर करने वाले थे लेकिन उन्हें गलत बोर्डिंग स्टेशन बताकर भ्रमित किया गया. और इसी के चलते उन्हें ट्रेन छोड़नी पड़ी थी.

ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि कर्नाटक कबड्डी एसोसिएशन और टीम के प्रबन्धक के बीच सही संचार नहीं हो पाया और रूट को लेकर असमंजस बना रहा था. जिसके चलते यह गड़बड़ी खिलाड़ियों को झेलनी पड़ी थी. साथ ही खिलाड़ियों को उनके एसोसिएशन ने भी सही जानकारी नहीं प्रेषित की थी.

वहीं खिलाड़ियों ने बताया कि हमें सही जानकारी नहीं दी गई थी. बाद में हमने एक ट्रेन प्रशांति एक्सप्रेस बुक की जो यात्रियों से भरी हुई थी. काफी देर तक छात्रों को सीट नहीं मिली थी आर फिर हमें शौचालय में खड़े होकर सफर करना पड़ा. कुछ यात्रियों के उतर जाने के बाद जैसे-तैसे सेट का प्रबंध हो पाया था.

वहीं टीम के प्रबन्धक ने कहा कि, ‘टीम को इतनी दिक्कत झेलने के साथ ही उनके प्रदर्शन पर प्रभाव पड़ सकता है. इससे उनके आने वाले मैचों में जो प्रभाव पड़ेगा उसका जिम्मेदार कौन होगा. साथ ही उन्होंने कर्णाटक कबड्डी एसोसिएशन पर भी आरोप लगाते हुए उन्हें सही से समायोजन नहीं किए जाने की बात कही.

खिलाड़ियों को तकलीफ में देख प्रबन्धन ने उनसे माफ़ी भी मांगी थी.
Yash Sharma
Yash Sharmahttps://prokabaddilivescore.com/
मुझे 12 साल की उम्र से ही इस खेल में दिलचस्पी है। मैं प्रो कबड्डी का फैन हूं।

प्रो कबड्डी न्यूज़ इन हिंदी

कबड्डी हिंदी लेख