ads banner
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
खिलाड़ियोंकुरुक्षेत्र के मुर्तजापुर में हुई कबड्डी प्रतियोगिता, डीएवी पिहोवा की टीम बनी...

कुरुक्षेत्र के मुर्तजापुर में हुई कबड्डी प्रतियोगिता, डीएवी पिहोवा की टीम बनी विजेता

कुरुक्षेत्र के मुर्तजापुर में हुई कबड्डी प्रतियोगिता, डीएवी पिहोवा की टीम बनी विजेता

हरियाणा के कुरुक्षेत्र में नेहरु युवा केंद्र कुरुक्षेत्र युवा कार्यक्रम और खेल मंत्रालय भारत की ओर से खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था. जिसमें कुरुक्षेत्र के मुर्तजापुर में खंड स्तर पर ग्राम समूह स्तरीय प्रतियोगिता का आयोजित की गई थी. इसमें दयानंद महिला महाविद्यालय, ग्राम पंचायत मुर्तजापुर, बीबीपुर कलां और ग्रामीण युवती विकास मंडल मुर्तजापुर का विशेष सहयोग रहा था. इस खंड स्तरीय कार्यक्रम में विभिन्न गांव के युवाओं ने कबड्डी समेत अन्य कई खेलों में बढ़-चढ़कर भाग लिया था. इस दौरान कबड्डी प्रतियोगिता में कई टीमों ने शिरकत की थी. जिसमें से डीएवी पिहोवा और दीवाल इंटरनेशनल के बीच फाइनल मैच खेला गया था.

मुर्तजापुर की कबड्डी प्रतियोगिता में दिखा जोश

फाइनल मैच काफी रोमांचक रहा था जिसमें खिलाड़ियों का उत्साह देखते ही बनता था. मैच का फैसला आखिरी समय तक ही निकल पाया. इस रोमांचक मैच में कई मोड़ ऐसे आए जिसमें खिलाड़ियों ने अपना दमखम लगाया. दर्शक भी इस रोमांचक मैच को देखने काफी संख्या में आए थे.

ग्रामीणों ने खिलाड़ियों का जमकर उत्साहवर्धन किया और खिलाड़ियों का मनोबल भी बढ़ाया. इस दौरान खिलाड़ियों का जज्बा और जोश देखते ही बनता था. इस रोमांचक मुकाबले में डीएवी पिहोवा की टीम विजेता बनी थी. जबकि दीवाल इंटरनेशनल दूसरे स्थान पर रही थी.

बता दें कार्यक्रम का शुभारम्भ मुर्तजापुर गांव के सरपंच प्रतिनिधि जगतराम, बीबीपुर कलां की सरपंच सत्यरानी, सेवानिवृत्त मार्किट कमेटी सचिव रामकुमार, पूर्व सरपंच देवेन्द्र राणा, महेंद्र सिंह और कुलदीप गोलन ने रिबन काटकर किया था. इस मौके पर जगत राम ने कहा कि, ‘खेल हमारे लिए बहुत ही फायदेमंद है. खेल न सिर्फ शारीरिक जबकि मानसिक शक्ति का भी विकास होता है. इससे हमें समयबद्धता, धैर्य, अनुशासन, समूह में कार्य करने की सीख मिलती है. खेल हमारे आत्मविश्वास को भी बढ़ाता है.’
वहीं इस दौरान खिलाड़ियों से सभी अधिकारीयों ने मुलाक़ात भी की थी. और खिलाड़ियों का मनोबल भी बढ़ाया था.

 

Yash Sharma
Yash Sharmahttps://prokabaddilivescore.com/
मुझे 12 साल की उम्र से ही इस खेल में दिलचस्पी है। मैं प्रो कबड्डी का फैन हूं।

प्रो कबड्डी न्यूज़ इन हिंदी

कबड्डी हिंदी लेख