ads banner
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
अंतरराष्ट्रीयNRI कबड्डी टूर्नामेंट का समापन, दयौरा टीम ने जीता मुकाबला

NRI कबड्डी टूर्नामेंट का समापन, दयौरा टीम ने जीता मुकाबला

NRI कबड्डी टूर्नामेंट का समापन, दयौरा टीम ने जीता मुकाबला

Image Source : Google

हरियाणा के कैथल जिले में स्थित हरिगढ़ में NRI कबड्डी टूर्नामेंट का आयोजन किया गया था. दयौरा गांव की टीम इस टूर्नामेंट में विजेता बनी थी. इस टीम को ट्रॉफी और 81 हजार रुपए दिए गए थे. उनके नकद पुरुस्कार देकर सम्मानित गया था. फाइनल मुकाबला रत्ताथेह और दयौरा के बीच हुआ था. इसमें रत्ताथेह टीम उपविजेता रही थी. इस मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में गुहला के पूर्व विधायक कुलवंत बाजीगर पहुंचे थे.

NRI कबड्डी टूर्नामेंट में खिलाड़ियों ने किया शानदार प्रदर्शन

इस दौरान उन्होंने समारोह को भी सम्बोधित किया था. उन्होंने इस दौरान कहा कि प्रदेश सरकार ने खेलों के लिया बहुत अच्छा काम किया है. इसके चलते खिलाड़ियों को आगे बढ़ाने का काम किया जा रहा है. प्रदेश सरकार की उम्दा खेल नीति के चलते पिछड़े इलाकों के खिलाड़ियों को भी मौका मिल रहा है. उन्होंने विजेता और उपविजेता टीम को भी ईनाम दिया गया था. वहीं उपविजेत टीम को  ट्रॉफी और 61 हजार रुपए दिए गए थे.

इस दौरान पूर्व विधायक जो कि मुख्य अतिथि बनकर आए थे वहीं उन्होंने खिलाड़ियों से मुलाकात की थी. बाजीगर ने कहा कि हमने यहां नौ करोड़ की लागत से स्टेडियम बनाया था. खेलों को बढ़ाने के लिए और खिलाड़ियों को मौका देने के लिए सरकार काफी प्रयास कर रही है. इस दौरान खिलाड़ियों को मौका दिया जा रहा है जिससे कि उनकी राह आसन हो सके.

विद्यार्थियों को विभिन्न प्रकार के खेलों का प्रशिक्षण भी खेल विभाग द्वारा दिया जा रहा है. खिलाड़ियों ने शानदार खेल से सभी को प्रभावित किया था. बता दें खेलों के विकास के लिए इन खिलाड़ियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है. साथ ही खेल के विकास से सभी को जोड़ा जा रहा है.
बता दें उन्होंने बहुत परिश्रम और मेहनत के साथ इस मुकाम को हासिल किया था. इसके साथ ही खिलाड़ियों के लिए काफी प्रेरणा का काम भी किया है. उनके गांव के युवा और खिलाड़ी अब उन्हेना अपनी प्रेरणा मानकर उनसे सीख ले रहे हैं. और यहीं से वह कबड्डी की बारीकियां भी सीख रहे हैं.

 

 

Yash Sharma
Yash Sharmahttps://prokabaddilivescore.com/
मुझे 12 साल की उम्र से ही इस खेल में दिलचस्पी है। मैं प्रो कबड्डी का फैन हूं।

प्रो कबड्डी न्यूज़ इन हिंदी

कबड्डी हिंदी लेख