ads banner
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
समाचारPKL 2023: यहां देखें Patna Pirates की ताकत और कमजोरियां

PKL 2023: यहां देखें Patna Pirates की ताकत और कमजोरियां

PKL 2023: यहां देखें Patna Pirates की ताकत और कमजोरियां

PKL 2023: प्रो कबड्डी लीग (Pro Kabaddi League) के इतिहास में पटना पाइरेट्स (Patna Pirates) सबसे सफल टीम है, जिसने तीन बार पीकेएल ट्रॉफी जीती है। हालांकि टीम का प्रदर्शन पिछले सीजनों जितना अच्छा नहीं रहा। वैसे देखा जाए तो पिछले सीजन में टीम ने 22 में से सिर्फ 8 मैच जीते थे और 11 मैचों में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था।

ये आंकड़े स्पष्ट रूप से संकेत देते हैं कि पटना एक उच्च स्तरीय टीम से गिरकर निचले स्तर पर आ गई है और इसका एक महत्वपूर्ण कारण टीम में अनुभव और संतुलन की कमी है। पीकेएल 10 की शुरुआत से पहले पटना ने अपनी टीम में कई बदलाव किए हैं, ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि टीम इस बार अच्छा प्रदर्शन कर पाती है या नहीं। तो आइए आपको आगामी सीजन (पीकेएल 10) की शुरुआत से पहले पटना पाइरेट्स की ताकत और कमजोरियों के बारे में बताते हैं।

ये भी पढ़ें- PKL 2023: जानिए क्या है UP Yoddhas की ताकत और कमजोरियां?

PKL 2023: पटना पाइरेट्स की ताकत
रेडिंग में सचिन तंवर अहम भूमिका निभाएंगे। पटना पाइरेट्स के पास एक समय परदीप नरवाल जैसा स्टार रेडर था, जिसने तीन बार पीकेएल खिताब जीतने में अहम भूमिका निभाई। भले ही परदीप अब टीम का हिस्सा नहीं हैं, लेकिन सचिन तंवर जैसे अनुभवी और शीर्ष रेडर टीम को उनकी कमी महसूस नहीं होने देते। सचिन कई सीजन से टीम के साथ हैं और उनसे पटना के रेडिंग विभाग में महत्वपूर्ण योगदान देने की उम्मीद है।

पिछले सीजन में सचिन 20 मैचों में 176 अंक हासिल करके अंकों के मामले में शीर्ष रेडर थे और वह शीर्ष रेडरों की सूची में आठवें स्थान पर थे। सचिन जैसे खिलाड़ी एक बार फिर टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाएंगे।

PKL 2023: पटना पाइरेट्स की कमजोरियां
खराब फॉर्म एक बार फिर पटना के लिए मुसीबत बन सकती है। पिछले सीजन में पटना के कप्तान रहे नीरज कुमार का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहे थे। यदि टीम के कप्तान का प्रदर्शन घटिया है, तो इससे अन्य खिलाड़ियों के आत्मविश्वास पर असर पड़ सकता है। नीरज पिछले सीजन में 21 मैचों में केवल 29 टैकल पॉइंट ही हासिल कर पाए थे और उनके खराब फॉर्म ने सचिन पर काफी दबाव डाला था।

अगर इस बार हालात नहीं सुधरे तो अंक अर्जित करने का बोझ सचिन के कंधों पर भारी पड़ जाएगा। अपने घटिया प्रदर्शन के बावजूद पटना एक बार फिर नीरज को कप्तानी सौंप सकती है। क्योंकि टीम में नेतृत्व की भूमिका निभाने के लिए कोई अन्य अनुभवी खिलाड़ी नहीं हैं।

PKL 2023: मनीष पर होगी डिफेंस की जिम्मेदारी
मनीष ढुल पटना की डिफेंस में अहम भूमिका निभाते हैं, लेकिन पिछले सीजन में उनका प्रदर्शन असाधारण नहीं था। यही कारण है कि उनकी मौजूदगी के बावजूद टीम की रक्षापंक्ति कमजोर दिखी। खराब फॉर्म के बावजूद पटना ने आगामी सीजन के लिए मनीष को बरकरार रखा है। टीम को मनीष से काफी उम्मीदें होंगी और वह उन उम्मीदों पर खरा उतरना चाहेंगे।

PKL 2023: पटना पाइरेट्स के देखने लायक खिलाड़ी
सचिन तंवर ने पिछले सीजन में अच्छा प्रदर्शन किया था और इस सीजन में उन पर टीम की उम्मीदों का केंद्र रहेगा। पटना को अच्छा प्रदर्शन करने के लिए सचिन का प्रदर्शन अहम है। टीम ने पिछले सीजन में खराब प्रदर्शन के बावजूद सचिन के अलावा नीरज कुमार को भी कप्तान बनाए रखा है। सचिन का समर्थन करना और टीम का संतुलन बनाए रखना महत्वपूर्ण होगा और ये दोनों खिलाड़ी टीम के लिए जरूरी हैं। ऐसे में सभी की निगाहें उन पर होंगी।

 

  • कबड्डी टूर्नामेंट सीरीज
  • PKL
  • PKL 2023

प्रो कबड्डी न्यूज़ इन हिंदी

कबड्डी हिंदी लेख