ads banner
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
अंतरराष्ट्रीयटीम को डिफेन्स में और सुधार करने कि जरूरत : कप्तान पवन

टीम को डिफेन्स में और सुधार करने कि जरूरत : कप्तान पवन

टीम को डिफेन्स में और सुधार करने कि जरूरत : कप्तान पवन

Image Source : Google

दक्षिण कोरिया के बुसान में आयोजित हुई एशियाई कबड्डी चैंपियनशिप में भारतीय टीम ने आठवीं बार खिताब जीतकर शानदार प्रदर्शन किया है. इसी के साथ नवोदित कप्तान पवन ने कबड्डी के खेल में एक नई दिशा दी है. जिससे खिलाड़ियों में जोश और बड़ा है. वतन वापसी के बाद पवन ने मीडिया से बातचीत कि थी. जिसमें उन्होंने एशियाई गेम्स की तैयारियां पर भी अपने विचार रखे.

कप्तान पवन को है डिफेंस में सुधार करने कि दरकार

बता दें पिछले सीजन में चोट लगने के साथ ही वह पूरे सीजन नहीं खेल पाए थे. वही इसके साथ ही उन्होंने मीडिया से बात कि और कहा कि मैं यह सुनिश्चित कर रहा था कि मैं टीम के नए खिलाड़ियों को दिशा-निर्देश देता हूं. मैं जीत हासिल करने के लिए हमेशा विरोधियों की कमजोरी का फायदा उठाता हूं.

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मुझे अभी भी यकीन है कि हम एक टीम के रूप में भी डिफेंस को सुधारने पर काम करना होगा. क्योंकि मैं विशेष चैंपियनशिप के दौरान हमारे कुछ प्रदर्शनों से पूरी तरह गेम खेलने के लिए तैयार रहेंगे. इसलिए हमें आगामी खेल पर ध्यान केंद्रित करने और अधिकतम प्रयास करने की आवश्यकता है. हम फिर से सुनिश्चित करेंगे कि हम टूर्नामेंट में प्रत्येक टीम के खिलाफ एक अच्छा गेम प्लान तैयार कर रहे हैं और गेम में पूर्ण तैयारी के साथ और एकाग्रता के साथ टीम खेल में ध्यान देंगे.

उन्होंने आगे कहा कि, ‘उनका भरोसा है कि 9 साल में एशियन गेम्स में भारतीय टीम ने कोई भी पदक हासिल नहीं किया है तो इस साल भारतीय टीम एशियन गेम्स में अच्छा प्रदर्शन कर पदक हासिल जरूर करेगी.’ आपको बता दें भारतीय टीम एशियन कबड्डी चैंपियनशिप में एक भी मैच नहीं हारी थी. भारत ने लीग स्टेज में साउथ कोरिया, चीनी ताइपे, जापान, हांगकांग और ईरान जैसी तगड़ी टीमों को हराया था और फाइनल में भारतीय टीम ने ईरान को टक्कर दी थी.

जिसमें जीत दर्ज कर भारत में आठवीं बार इस खिताब को अपने नाम किया था. अब देखना होगा कि आगामी टूर्नामेंट एशियन गेम्स में भारत कैसा प्रदर्शन करती है.

Yash Sharma
Yash Sharmahttps://prokabaddilivescore.com/
मुझे 12 साल की उम्र से ही इस खेल में दिलचस्पी है। मैं प्रो कबड्डी का फैन हूं।

प्रो कबड्डी न्यूज़ इन हिंदी

कबड्डी हिंदी लेख