ads banner
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
अंतरराष्ट्रीयतीन टीमों ने 3 सीजन से ज्यादा बार प्ले-ऑफ में जगह बनाई,...

तीन टीमों ने 3 सीजन से ज्यादा बार प्ले-ऑफ में जगह बनाई, जानिए कौन है?

तीन टीमों ने 3 सीजन से ज्यादा बार प्ले-ऑफ में जगह बनाई, जानिए कौन है?

प्रो कबड्डी लीग के सीजन नौ का अब अंतिम सफर शुरू हो चुका है. कुछ ही दिनों में इसका मुख्य परिणाम सबसे सामने रहेगा. और नई टीम जो विजेता बनेगी उसका भी खुलासा चंद दिनों में हो जाएगा, वहीं इसके लीग स्टेज का भी अंत हो चुकी है. जिसमें तीन टीमों ने प्ले ऑफ में जगह बना ली है.

तीन टीमों का शानदार प्रदर्शन, बनाई प्ले-ऑफ में जगह

वहीं उनमे से दो टीमें ऐसी रही है जो सीधे सेमीफाइनल में प्रवेश कर चुकी है. उन छह टीमों में पहले पर जयपुर पिंक पैंथर्स हैं. वहीं दूसरे स्थान पर पुनेरी पलटन और तीसरे पर बेंगलुरु बुल्स रही है. इन सभी टीमों ने शानदार खेल का प्रदर्शन किया था और टॉप तीन में हमेशा बनी रही थी. वहीं इस बार बड़ा उलटफेर देखने को मिला था. तीन बार की चैंपियन टीम पटना का प्लेऑफ से पत्ता कट चुका था वहीं तमिल टीम पहली बार प्लेऑफ में जगह बनाने में कामयाब रही है. वहीं इस प्रो कबड्डी लीग में कुछ ऐसी टीमें भी रही है जो लगातार चार बार प्लेऑफ में जगह बनाने में सफल रही है. आठ सीजन का लीग हो चुका है जिसमें कई टीमें अपने धुरंधर खेल के लिए भी जानी जाती है.

सबसे पहले बात करें बेंगलुरु बुल्स कि तो छठे सीजन की विजेता टीम ने इस सीजन में भी धमाका किया है. उन्होंने 22 मैचों में 13 जीत के साथ ही प्लेऑफ में जगह बनाई थी. इतना ही नहीं सीजन छह ही नहीं बल्कि सीजन 7 और सीजन 8 में भी वह प्लेऑफ में जगह बनाने में कामयाब रही थी.

वहीं बात करें दबंग दिल्ली टीम की तो वह पिछले सीजन की विजेता रही है. इसके अलावा सीजन 7 में भी वह टॉप की टीम रह चुकी है. लेकिन फाइनल में वह बंगाल टीम से हार गई थी.

दूसरी ओर बात करें यूपी योद्धाज टीम कि तो वह सीजन 6 में तीसरे स्थान पर रही थी. जबकि सीजन 7 में वह फिर से तीसरे स्थान पर ही रही थी. और बेंगलुरु ने उन्हें आगे नहीं बढ़ने दिया था. वहीं आठवें सीजन में फिर वह तीसरे स्थान पर रहने वाली टीम बनी थी.

Yash Sharma
Yash Sharmahttps://prokabaddilivescore.com/
मुझे 12 साल की उम्र से ही इस खेल में दिलचस्पी है। मैं प्रो कबड्डी का फैन हूं।

प्रो कबड्डी न्यूज़ इन हिंदी

कबड्डी हिंदी लेख