ads banner
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
ads banner buaksib
ads banner
अन्य कहानियांPro Kabaddi 2023:Delhi KC कर सकती है इन खिलाड़ियों को रिटेन

Pro Kabaddi 2023:Delhi KC कर सकती है इन खिलाड़ियों को रिटेन

Pro Kabaddi 2023:Delhi KC कर सकती है इन खिलाड़ियों को रिटेन

Pro Kabaddi 2023: प्रो कबड्डी 2023 का सीजन जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है, प्रशंसक 8 और 9 सितंबर को मुंबई में होने वाली बहुप्रतीक्षित पीकेएल 10 (PKL 10) नीलामी का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। चर्चा और उत्साह के बीच सबका ध्यान दबंग दिल्ली केसी (Delhi KC) पर है, एक ऐसी टीम जिसने पिछले सीजन में अच्छा प्रदर्शन किया था। लेकिन प्लेऑफ में पिछड़ गई थी। पिछले सीजन में छठे स्थान पर रहते हुए, दबंग दिल्ली केसी एलिमिनेटर 1 में बेंगलुरु बुल्स से हार गई, जिससे वे वापसी के लिए भूखे रह गए।

सम्मानजनक प्रदर्शन के बावजूद टीम प्रबंधन अच्छी तरह से जानता है कि सफलता की राह सुरक्षित करने के लिए उन्हें एक मजबूत टीम बनानी होगी। लगातार अच्छा प्रदर्शन करने वाले मुख्य खिलाड़ियों को बनाए रखना उनके भविष्य के प्रयासों के लिए महत्वपूर्ण होगा।

आइए उन तीन खिलाड़ियों के बारे में जानें जिन्हें दबंग दिल्ली केसी पीकेएल 10 में अपनी जीत का मार्ग प्रशस्त करने के लिए रिटेन करने पर विचार कर सकती है।

ये भी पढ़ें- PKL 10 Auction:Jaipur Pink Panthers के प्लेयर्स का वर्गीकरण

Pro Kabaddi 2023:  इन तीन खिलाड़ियों को दिल्ली केसी कर सकती है रिटेन

#3 नवीन कुमार
“नवीन एक्सप्रेस” के नाम से लोकप्रिय नवीन कुमार निर्विवाद रूप से प्रो कबड्डी लीग की शोभा बढ़ाने वाले सर्वश्रेष्ठ रेडरों में से एक हैं। दबंग दिल्ली केसी से आने वाले नवीन टीम के रेडिंग विभाग की रीढ़ रहे हैं, उन्होंने लगातार उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। जिससे प्रशंसक और प्रतिद्वंद्वी आश्चर्यचकित रह गए हैं।

पिछले सीजन में नवीन ने संघर्षरत दिल्ली टीम को प्लेऑफ तक पहुंचाने में अपूरणीय भूमिका निभाई थी। मैट पर उनका प्रभाव निर्विवाद था, जिसमें प्रभावशाली 49% सफल रेड दर प्रदर्शित हुई।

23 खेलों के दौरान नवीन ने तीन सुपर रेड को अंजाम दिया और आश्चर्यजनक 16 सुपर 10 दर्ज किए, जो टूर्नामेंट में दूसरा सर्वश्रेष्ठ है। कुल 254 रेड पॉइंट के साथ उन्होंने प्रति मैच प्रभावशाली 11.04 रेड पॉइंट के औसत से तीसरी सबसे बड़ी संख्या हासिल की।

नवीन कुमार की रक्षकों को आसानी से मात देने की क्षमता और उनके बिजली की तेजी से छापे ने उन्हें एक बड़ी ताकत बना दिया है। उनकी रेडिंग क्षमता ने न केवल उन्हें प्रशंसा अर्जित की है, बल्कि दबंग दिल्ली केसी के लिए महत्वपूर्ण अंक भी अर्जित किए हैं, जिससे उनकी जीत का मार्ग प्रशस्त हुआ है।

टीम प्रबंधन के लिए नवीन कुमार को बरकरार रखना सर्वोच्च प्राथमिकता है, क्योंकि मैट पर उनकी मौजूदगी विपक्षी टीम के मन में आत्मविश्वास और डर पैदा करती है।

#2 विजय मलिक
भले ही अतीत में उन्हें कमतर आंका गया हो, विजय मलिक दबंग दिल्ली केसी लाइनअप में सबसे महत्वपूर्ण खिलाड़ियों में से एक बनकर उभरे हैं। उनका प्रदर्शन हर तरह से शानदार रहा है और जब भी टीम को उनकी सबसे ज्यादा जरूरत थी, उन्होंने लगातार आगे बढ़कर प्रदर्शन किया है।

पीकेएल के आठवें संस्करण में विजय ने अपनी क्षमता की झलक दिखाते हुए एक सफल सीजन का अनुभव किया। अगले सीजन, पीकेएल 9 में, उन्होंने टीम के लिए एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी के रूप में अपनी योग्यता साबित करना जारी रखा।

चोट के कारण कई मैच न खेलने के बावजूद विजय मलिक को जब भी खेलने का मौका मिला, उन्होंने अपने कौशल का प्रदर्शन किया। सराहनीय 45% सफल रेड रेट के साथ वह एक भरोसेमंद रेडर साबित हुए। खेले गए 11 मैचों में विजय ने एक सुपर रेड को अंजाम दिया और प्रभावशाली चार सुपर 10 दर्ज किए, जिससे दबंग दिल्ली केसी के पक्ष में स्थिति को मोड़ने की उनकी क्षमता का प्रदर्शन हुआ।

जो चीज विजय को अलग करती है, वह है मौके पर आगे बढ़ने की उनकी क्षमता, जरूरत पड़ने पर प्रमुख खिलाड़ियों की भूमिका निभाना और महत्वपूर्ण अंक दिलाना। उनकी बहुमुखी प्रतिभा और निरंतरता उन्हें टीम के लिए एक अमूल्य संपत्ति बनाती है और दबंग दिल्ली केसी निस्संदेह अपने रेडिंग विभाग को और मजबूत करने के लिए उन्हें बनाए रखना चाहेगी।

#1 आशु मलिक
दबंग दिल्ली केसी के लाइनअप में एक और प्रमुख खिलाड़ी आशु मलिक ने खुद को टीम की सफलता में एक महत्वपूर्ण सहयोगी के रूप में साबित किया है। उनका योगदान विशेषकर नवीन कुमार के समर्थन में दूसरे रेडर की भूमिका में टीम की कई जीतों में महत्वपूर्ण रहा है।

पीकेएल 9 में आशु ने 36% की सफल रेड दर का सराहनीय प्रदर्शन किया, जिससे विपक्षी टीम की रक्षापंक्ति को आसानी से तोड़ने की उनकी क्षमता का प्रदर्शन हुआ। उनके छह सुपर रेड और पांच सुपर 10 ने मैट पर गेम-चेंजर बनने की उनकी क्षमता को उजागर किया। आशू लगातार महत्वपूर्ण रेड अंक हासिल करने में कामयाब रहे, जिससे वह एक ऐसे खिलाड़ी बन गए जिस पर टीम को भरोसा था।

अपनी छापेमारी क्षमता के अलावा आशु मलिक की कमान संभालने और दबाव में अच्छा प्रदर्शन करने की इच्छा उन्हें एक विश्वसनीय संपत्ति बनाती है। उनके प्रदर्शन ने साबित कर दिया है कि वह एक प्रमुख रेडर की जिम्मेदारियों को निभाने में सक्षम हैं, जिससे टीम के लिए उनका महत्व और भी मजबूत हो गया है।

प्रो कबड्डी न्यूज़ इन हिंदी

कबड्डी हिंदी लेख